उरी हमले के बाद इंडिया के मुस्लिमों में भी पाकिस्तान के खिलाफ गुस्सा, मोहर्रम पर ताजिये के साथ लगाया जांबाज सैनिकों का पोस्टर

सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र

करबला की जंग इंसानियत को बचाने के लिए जुल्म के खिलाफ लड़ी। पैगंबर ए इस्लाम के नवासे हजरत इमाम हुसैन ने अहले खानदान के साथ शहादत देकर दुनिया को बता दिया कि हक के लिए जान भी देनी पड़ी, तो कोई गम नहीं। यूपी के जगदीशपुरा में ताजिये के साथ उरी हमलों में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी गई। ताजिये के साथ निकलने वाली मजार में सैनिकों के फोटो भी लगाए गए।

loading...