पढ़िए 24 मर्दों के साथ रात बिताने वाली एक शादीशुदा औरत की कहानी!

11267217_123847504617561_7137358498725278850_o_censored

सेक्स की भूख भी खाने की भूख की तरह ही होती है। लेकिन अगर ये भूख बीमारी की हद तक बढ़ जाए तो क्या होता है? ये ऐसी गृहणी की कहानी है जिसके पास सारे सुख और आराम के साधन है बस कमी है तो शारीरिक सुख की। ऐसे में अपनी एक सहेली के कहने पर वो पहली बार एक गैर मर्द के साथ सम्भोग करती है।

उसके बाद वो गृहणी एक ऐसी राह पर निकल पड़ती है जहाँ से आना मुश्किल हो जाता है। सेक्स कब ज़रूरत से जीने की आवश्यकता और पागलपन बन जाता है पता ही नहीं चलता। शुरू में कैसे भी करके वो गृहणी खुद को रोकती है लेकिन धीरे धीरे सेक्स की भूख दिमाग पर इस तरह हावी हो जाती है कि अब उसे हर मर्द सिर्फ सेक्स की भूख मिटाने का सामान ही दीखता है।

पति के दूर रहने की वजह से उस गृहणी की आज़ादी और पागलपन पर कोई लगाम नहीं कसती और सिर्फ 7 महीनो के छोटे से अंतराल में ही वो गृहणी 24 अनजान और अलग अलग मर्दों के साथ अपनी जिस्म की आग बुझाती है। उसे अपने किये का अहसास भी होता है लेकिन जब भी वो किसी मर्द के करीब जाती है तो अपने होश ओ हवास खो बैठती है।

जब पति को इस बात का पता चलता है तो वो बहुत नाराज़ होता है। पति के आने के बाद उस गृहणी को सेक्स मिलना बंद हो जाता है और राज़ खुलने के बाद पति भी उससे दूर रहता है। ऐसी स्थिति में वो पागल होने लगती है। अपनी पत्नी की ऐसी ख़राब हालत होते देख पति अपनी पत्नी को लेकर एक डॉक्टर के पास जाता है। डॉक्टर ऐसा राज़ खोलता है जिसे सुनकर पति और पत्नी दोनों के होश उड़ जाते है।

डॉक्टर बताता है कि उस गृहणी की अत्यधिक सेक्स की भूख एक बीमारी है जो धीरे धीरे अपना असर करती है और एक वक्त आने पर दिल और दिमाग पर पूरी तरह हावी होकर वो सब करने पर मजबूर कर देती है जो करने की हम सपने में भी नहीं सोच सकते।

loading...