सर्जिकल स्ट्राइक के बाद अलर्ट, प्लेन हाइजैक से निपटने की तैयारी में जुटी NSG

02_10_2016-nsgcommando

भारत द्वारा पीओके में की गयी सर्जिकल स्ट्राइक के बाद देश के प्रमुख प्रतिष्ठानों पर संभावित किसी भी आतंकी हमले से निपटने के लिए देश की सभी प्रमुख सुरक्षा एजेसिंया हाई अलर्ट पर हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) ने सभी भारतीय विमान कंपनियों और चार्टर प्लेन ऑपरेटर्स से कहा कि वे प्रयोग में लाए जाने वाले प्रत्येक एयरक्राफ्ट को उनके लिए तैयार रखे, जिनके जरिए एनएसजी कमांडो विमानों के डिजायन के अनुसार एंटी हाइजैक ड्रिल्स का अभ्यास करेंगे।

विशेष आतंकवाद विरोधी बल स्वयं को हर प्रकार के विमान की परिस्थिति के अनुकूल ढालना चाहता है। एक अंग्रेजी अखबार से बात करते हुए एक वरिष्ठ एयरलाइन अधिकारी ने बताया, हमें हमारे विमानों को उपलब्ध रखने का निर्देश दिया गया है। लगभग सभी एयरलायंस कंपनियां ने इस बात पर सहमति जताई है कि वे रात के समय कुछ घंटों के लिए एनएसजी को अपने विमान उपलब्ध कराएंगे।

अब यह उन पर निर्भर है कि अपनी अपनी एक्सरसाइज शुरू करें। हालांकि इंडियन एयरलाइंस ने एनएसजी के लिए सिर्फ एक शर्त रखी है। कुछ साल पहले एक एंटी हाइजैक ड्रिल के एक विमान के इंटीरियर को काफी नुकसान पहुंचा था, जिसके बाद इसकी सूचना नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) को दी गयी थी और बाद में यह मुद्दा एयरलायंस की तरफ से उठाया गया था।

सूत्र के अनुसार, डीजीसीए ने सुरक्षा एजेंसियों को कहा है कि वे विमान के आपातकालीन निकास, आंतरिक जगह तथा दूसरी अन्य जानकारियों से अच्छी तरह परिचित हो जाएं, लेकिन विमान को किसी भी प्रकार से नुकसान नहीं होना चाहिए।

loading...