अभी-अभी: सरकार ने बॉर्डर से खाली कराए 200 गांव, कुछ बड़ा करने की तैयारी

img_20160930101439

NDIAN ARMY की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद PAKISTAN को भारत दोबारा जवाब देने की तैयारी में है। मोदी सरकार ने बॉर्डर से 200 गांवो को खाली करा लिया है। लोगों से कहा गया है कि जंग छिड़ सकती है, सभी महफूज जगह लौट जाएं। भारत ने पहली बार एलओसी पार कर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में 3 किलोमीटर अंदर जाकर आतंकियों के 6 कैंप को नेस्तनाबूद किया है। हालांकि पाकिस्तान इसे सर्जिकल स्ट्राइक नहीं मान रहा लेकिन वह इसका बदला लेने की धमकी दे चुका है. लेकिन किसी भी बदले से निपटने के लिए भारत ने अपनी तैयारी पूरी कर ली है।

10 किमी अंदर तक के गांव खाली: पंजाब में सरहद के 10 किलोमीटर के अंदर तक 200 गांव खाली कराने के लिए कहा गया है। भारतीय सेना के एलओसी के पार जाकर सर्जिकल स्ट्राइक्स के बाद बार्डर सिक्योरिटी फोर्स ने अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर चौकसी बढ़ा दी है. बॉर्डर पर अतिरिक्त जवानों की तैनाती कर दी गई है। एएनआई के मुताबिक वाघा बार्डर पर आज शाम को होने वाली रिट्रीट सेरेमनी को भी रद्द कर दिया गया है।

BSF भी अलर्ट पर: हाई अलर्ट की वजह से वेस्टर्न इंडियन फ्रंट पर तैनात BSF और सेना के जवानों की छुट्टियां भी कैंसिल कर दी गई हैं। बता दें कि गुजरात से कश्मीर तक की सीमा पर हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। पाकिस्तान इन इलाकों में हमला कर सकता है।

सरपंचों से कहा-गांव खाली कर दो: सरहद से लगते पंजाब के जिलों में प्रशासन को बॉर्डर से 10 किलोमीटर अंदर तक पड़ने वाले गांवों को खाली कराने के लिए आवश्यक कदम उठाने को कहा गया है। इस बारे में गांव सरपंचों और स्थानीय अधिकारियों को जल्दी से जल्दी गांव खाली कराने के लिए कह दिया गया है।

पंजाब CM ने बैठक बुलाई: इस बीच पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने चंडीगढ़ में सभी विधायकों, मत्रियों और क्राइसिस मैनेजमेंट के अधिकारियों के साथ बैठ बुलाई है।

शाम 4 बजे बुलाई गई सर्वदलीय बैठक: सर्जिकल स्ट्राइक से जुड़ी जानकारी हर पार्टी को देने के लिए सरकार ने शाम 4 बजे ऑल पार्टी मीटिंग बुलाई है। जिसमें कांग्रेस की ओर से गुलाम नबी आजाद शामिल होंगे। इससे पहले ही राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को भारतीय ऑपरेशन के बारे में बताया जा चुका है।

loading...